Sports

रोहित शर्मा और बुमराह के आगे ढही बांग्लादेश की सेमीफइनल में पहुँचने की उम्मीदें, आज चुनी जाएगी सेमीफइनल के तीसरी टीम।

विश्व कप 2019 में कल का मुक़ाबला भारत और बांग्लादेश के बीच बर्मिंघम में खेला गया, जिसमे मज़बूत भारतीय टीम ने बांग्लादेश को 28 रन से हराते हुए सेमीफइनल में जगह बना ली, विराट कोहली द्वारा टॉस जीकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला एकदम सटीक रहा और सलामी जोड़ी रोहित शर्मा और के-एल राहुल की परियों ने भारत को 314 का स्कोर प्रदान करा जिसके जवाब में बांग्लादेश की टीम 286 रन के स्कोर पर ऑल आउट होगयी।

भारत की ओर से रोहित शर्मा ने विश्वकप का चौथा शतक जमाया, इससे पहले ये कारनामा सिर्फ श्रीलंका के संगकारा द्वारा किया गया है जिन्होंने विश्व कप 2015 में 4 शतक लगाए थे, 314 रन के स्कोर का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया पर लगातार अंतराल से विकेट करने के कारण बांग्लादेश की पारी स्थापित नहीं हो पायी, शाकिब उल हसन और सैफुद्दीन के अलावा बांग्लादेश के लिए कोई भी ख़ास प्रदर्शन नहीं कर पाया

‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड तो रोहित को मिला, जिस पर दर्शकों की मिली जुली प्रतिक्रिया आयी, दरअसल शमी और चहल के ओवर में सैफुद्दीन द्वारा धुआंदार बैटिंग की गयी और मैच थोड़ा बांग्लादेश के पक्ष में चला गया,परन्तु बुमराह ने एक बढ़िया स्पेल करते हुए भारत की वापसी करवाई और भारत को जीत दिलाई। प्रशंसकों द्वारा ट्वीट करके कहा गया की भारत का जीत का श्रेय बुमराह को जाना चाहिए न के रोहित को सो इस बात को लेके दोनों के प्रशंसकों ने अपनी अपनी राय दी।

आज का मैच


आज का मैच न्यूज़ीलैण्ड और इंग्लैंड के बीच खेला जाएगा जिसमे जीतने वाली टीम सीधा सेमीफइनल का टिकट कटायेगी , इंग्लैंड जहाँ अपना पिछले मैच टूर्नामेंट की सबसे शक्तिशाली और मज़बूत टीम भारत से जीत कर पहुंची है वही न्यूज़ीलैण्ड अपना पिछले मैच पकिस्तान से हार के आयी है।

इंग्लैंड : रॉय की वापसी से मजबूत
इंग्लैंड के ओपनर जेसन रॉय ने भारत के खिलाफ मुकाबले से टीम में फिर वापसी की। और ये काफी कामयाब भी रही। पहले विकेट के लिए 160 रन की साझेदारी हुई थी और रॉय ने 66 रन बनाए थे। लियम प्लंकेट ने शानदार गेंदबाजी की और टीम इंडिया के 3 विकेट लिए। इस बात की संभावना कम ही है कि इंग्लैंड अपनी टीम में कोई बदलाव करेगी।

ये हो सकती है इंग्लैंड की प्लेइंग-11
इयॉन मोर्गन (कप्तान), जॉनी बेयरेस्टो, जोस बटलर (विकेट कीपर), जेसन रॉय, जो रूट, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स, जोफ्रा आर्चर, लियम प्लंकेट, लियाम डॉसन और आदिल रशीद।

न्यूजीलैंड : ओपनिंग से बड़ी दिक्कत
न्यूजीलैंड के लिए इस विश्व कप में सबसे बड़ी समस्या उनके सलामी बल्लेबाज रहे हैं। मार्टिन गुप्टिल और कॉलिन मुनरो नहीं चल पाए हैं और खुद कप्तान केन विलियम्सन ने यह बात मानी कि टीम को शुरुआत अच्छी चाहिए। विलियम्सन इस विश्व कप के 40वें मैच तक सर्वाधिक स्कोर बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में 6वें नंबर पर थे। टॉम लैथम भी कुछ खास नहीं कर पाए हैं। अनुभवी रॉस टेलर जरूर सफल रहे हैं। गेंदबाजी में कोई कमी नहीं रही है।

ये हो सकती है न्यूजीलैंड की प्लेइंग-11
केन विलियम्सन (कप्तान), रॉस टेलर, टॉम लैथम (विकेट कीपर), कॉलिन डी ग्रैंडहोम, लॉकी फर्ग्युसन, कॉलिन मुनरो, मार्टिन गुप्टिल, जेम्स नीशाम, ट्रेंट बोल्ट, मिशेल सेंटनर और मैट हेनरी।

Please follow and like us:

Leave a Reply