Breaking news National

कर्नाटक में सरकार बचाने के लिए 21 मंत्रियों का इस्तीफा, भाजपा पर सरकार को अस्थिर करने का आरोप।

कर्नाटक इस हफ्ते पूरे देश में राजनितिक गर्माहट का गड बना हुआ है इसी राजनीतिक उठापटक के बीच सोमवार को कांग्रेस के 21 मंत्रियों ने कुमारस्वामी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने इसकी पुष्टि की। कांग्रेस के कर्नाटक प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि सरकार बचाने और भाजपा को रोकने के लिए हमारे विधायकों ने मंत्री पद छोड़े हैं। इससे पहले निर्दलीय विधायक एच नागेश ने भी मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए समर्थन वापस ले लिया।
दूसरी ओर, मंत्री जमीर अहमद खान ने कहा, ‘जितने भी विधायक भाजपा कैम्प में गए, उनमें से 6-7 आज शाम तक वापस लौट आएंगे।’ इससे पहले कांग्रेस और जेडीएस के 12 विधायक अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे चुके हैं।

कांग्रेस के सामने सरकार बचाने की चुनौती

अब जेडीएस नेता और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के अलावा कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया के सामने सरकार बचाने की चुनौती है। राज्य में सरकार बनाने और बचाने के लिए भाजपा और जेडीएस में बैठकों का दौर जारी है। सोमवार को उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वरा ने अपने आवास पर कांग्रेस के विधायक और मंत्रियों को नाश्ते पर बुलाया। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, मंत्री डीके शिवकुमार, यूटी खादर, शिवशंकरा रेड्डी, वेंकटरमनप्पा, जयमाला, एमबी पाटिल, केबी गौड़ा, राजशेखर पाटिल मौजूद रहे।

सरकार बचाने के लिए कुमारस्वामी इस्तीफा दे सकते हैं
13 महीने पुरानी गठबंधन सरकार को लेकर होटल ताज वेस्ट एंड में रविवार शाम को भी बैठक हुई थी। इसमें एचडी देवेगौड़ा, कुमारस्वामी और जी परमेश्वर के अलावा कांग्रेस नेता भी मौजूद थे। बैठक से पहले कुमारस्वामी के मंत्री जीटी देवेगौड़ा ने कहा था कि अगर समन्वय समिति सिद्धारमैया को सीएम बनाती है तो हमें आपत्ति नहीं है। माना जा रहा है कि गठबंधन सरकार बचाने के लिए कुमारस्वामी इस्तीफा दे सकते हैं और कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे नए मुख्यमंत्री बन सकते हैं। न्यूज एजेंसी ने कांग्रेस सूत्रों के हवाले से बताया था कि जेडीएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को यह सुझाव दिया है कि गठबंधन सरकार बचाने के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे को मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।

Please follow and like us:

Leave a Reply