LokSabha 2019 Madhya Pradesh

लोकसभा 2019 में ईवीएम से वीवीपैट का मिलान नहीं होने और मशीन से छेड़छाड़ को लेके कांग्रेस ने भाजपा के 17 सांसदों के निर्वाचन को हाई कोर्ट में चुनौती दी।

इंदौर सांसद शंकर ललवानी, भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर सहित भाजपा के 17 सांसदों के निर्वाचन को लेके कांग्रेस ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है। कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया व मंडला, बालाघाट, इंदौर, ग्वालियर, उज्जैन, सीहोर, खरगोन, दमोह, टीकमगढ़, सतना, सीधी, सागर, मुरैना, नरसिंहपुर, शहडोल के पराजित प्रत्याशियों ने ईवीएम से छेड़छाड़ और भ्रष्ट आचरण का आरोप लगाते हुए विजयी सांसदों के खिलाफ चुनाव याचिकाएं दायर की हैं। इन याचिकाओं पर अगले हफ्ते सुनवाई हो सकती है। ग्वालियर और बालाघाट सांसदों के खिलाफ 2-2 याचिकाएं दायर हुई हैं।

याचिकाओं में आरोप लगाया गया है कि मतगणना के दौरान आयोग ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन नहीं किया। शीर्ष कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि प्रत्येक संसदीय क्षेत्र में 5 पोलिंग बूथों की ईवीएम और वीवीपैट से मिलान किया जाए, लेकिन अधिकतर जगहों पर ऐसा नहीं हुआ। इसके अलावा मतदान के कुछ दिन बाद जब ईवीएम मशीनें मतगणना स्थल पर वापस आईं तब अधिकतर मशीनें 99 प्रतिशत तक चार्ज थीं। इससे स्पष्ट है कि ईवीएम से छेड़छाड़ की गई है।

Please follow and like us:

Leave a Reply