Achievements Economy

8131 करोड़ का तिमाही मुनाफा होने पर टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने प्रति शेयर 5 रुपये डिविडेंड देने की घोषणा की।

देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने मंगलवार को जून तिमाही के नतीजे घोषित किए। डिजिटल सेगमेंट में अच्छी ग्रोथ से कंपनी को अप्रैल-जून में 8,131 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। यह पिछले साल की जून तिमाही से 10.8% ज्यादा है। रेवेन्यू 11.4% बढ़कर 38,172 करोड़ रुपए हो गया है।

डिविडेंड भुगतान के लिए 17 जुलाई रिकॉर्ड तारीख

कंपनी ने जून तिमाही के लिए 5 रुपए प्रति शेयर का डिविडेंड घोषित किया है। डिविडेंड के लिए रिकॉर्ड तारीख 17 जुलाई और भुगतान की तारीख 23 जुलाई रहेगी। यानी 17 जुलाई तक जिनके पास शेयर होंगे उन्हें 23 जुलाई को डिविडेंड दिया जाएगा। अप्रैल-जून में टीसीएस की प्रति शेयर कमाई (ईपीएस) 13% बढ़कर 21.67 रुपए रही।

टीसीएस का मुनाफा

तिमाही प्रॉफिट (रु. करोड़)
अप्रैल-जून 2019-  8,131, जनवरी-मार्च 2019 – 8,126, अप्रैल-जून 2018 – 7,340

टीसीएस का रेवेन्यू

तिमाही रेवेन्यू (रु. करोड़)
अप्रैल-जून 2019 38,172, जनवरी-मार्च 2019 38,010, अप्रैल-जून 2018 34,261
डिजिटल रेवेन्यू ग्रोथ 42.1% रही, टीसीएस के कुल रेवेन्यू में डिजिटल सेगमेंट की हिस्सेदारी 32.2% रही। पिछले साल की जून तिमाही के मुकाबले डिजिटल रेवेन्यू में 42.1% इजाफा हुआ है।

टीसीएस की मौजूदा कर्मचारी संख्या 4 लाख 36 हजार 641 हो गई है। जून तिमाही में 12,356 नए कर्मचारी जोड़े। यह संख्या बीते 5 साल में सबसे ज्यादा है।

टीसीएस के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन ने कहा कि हमने वित्त वर्ष की संतुलित शुरुआत की है। ग्रोथ और ट्रांसफॉर्मेशन पर ग्राहकों का खर्च लगातार बढ़ रहा है। हमारी मजबूत ऑर्डर बुक और इस तिमाही में होने वाली डील में इसकी झलक दिख रही है।

Please follow and like us:

Leave a Reply