Breaking news Sports

विश्व कप 2019 भारत का विजयी सफर थमा , न्यूज़ीलैंड फाइनल में।

विश्व कप 2019 में भारत का सफर सेमीफइनल में न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ 18 रन की हार के साथ समाप्त हो गया, 241 रन के लक्ष्य का पीछा करने उत्तरी भारतीय टीम 221 रन पर समिट गयी, भारत की और से रविंद्र जडेजा 77 और महेंद्र सिंह धोनी 50 के अलावा कोई भी बल्लेबाज़ ख़ास प्रदर्शन नहीं कर पाए और चौथी बार वर्ल्ड कप फाइनल खेलने का भारत का सपना आज बिखर गया न्यूज़ीलैण्ड इस जीत के साथ ही लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंच गया। वहीं, भारतीय टीम लगातार दूसरी बार सेमीफाइनल में हारकर बाहर हो गई। पिछली बार उसे ऑस्ट्रेलिया ने हराया था।

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में खेले गए सेमीफाइनल में 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 221 पर सिमट गई। टॉप ऑर्डर पूरी तरह फेल रहा। रोहित शर्मा, लोकेश राहुल और विराट कोहली केवल 1-1 रन बनाकर आउट हुए। निचले क्रम ने मैच में वापसी की कोशिश की, लेकिन अंतिम ओवरों में जडेजा (77 रन) और धोनी (50 रन) के आउट होने से फैसला न्यूजीलैंड के पक्ष में गया। न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 239 रन बनाए। उसके लिए रॉस टेलर ने 74 और कप्तान केन विलियम्सन ने 67 रन की पारी खेली। भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। भारतीय टीम 49.3 ओवर में 221 रन पर सिमट गई।

मैच के टर्निंग पॉइंट
1. नौ साल में भारत के टॉप ऑर्डर का सबसे खराब प्रदर्शन, बोल्ट और हेनरी का शुरुआती स्पेल साथ ही 3.1 ओवर में ही भारत के 5 रन पर 3 विकेट गिर जाना, शुरुआती 19 गेंदों में रोहित, राहुल और कोहली आउट हो गए। इससे पहले जनवरी 2010 में श्रीलंका के खिलाफ भारत के शुरुआती 3 विकेट 3.3 ओवर में गिरे थे। न्यूजीलैंड के ओपनिंग गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट और मैट हेनरी ने पहले 10 ओवर में सिर्फ 24 रन दिए। दोनों ने 4 भारतीय बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। बोल्ट की इनस्विंग गेंद पर कोहली एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। दूसरी ओर हेनरी ने रोहित-राहुल और कार्तिक को पवेलियन भेज दिया।

2. जडेजा का आउट होना : टीम का स्कोर जब 47.5 ओवर में 208 रन था तब जडेजा आउट हो गए। बोल्ट की गेंद पर वे छक्का मारने के प्रयास में विलियम्सन को कैच थमा बैठे। उन्होंने 56 गेंद की पारी में 4 चौके और 4 छक्के लगाए थे। यहां से भारत को जीत के लिए 31 रन बनाने थे।

3. धोनी का रनआउट : जडेजा के आउट होने के बाद धोनी ने अगले ही ओवर में फर्गुसन की पहली गेंद पर बैकवर्ड पॉइंट बाउंड्री के ऊपर छक्का मारा। इसके बाद तीसरी गेंद पर दो रन लेने के प्रयास में रनआउट हो गए। उन्हें गुप्टिल ने डायरेक्ट थ्रो पर पवेलियन भेज दिया।

4. पंत और पंड्या ने सेट होकर विकेट गंवाया :भारतीय टीम के 24 रन पर 4 विकेट गंवा चुकी थी। यहां से पंत और हार्दिक ने पांचवें विकेट के लिए 47 रन की साझेदारी की। पंत ने 23वें ओवर में सेंटनर की गेंद पर खराब शॉट खेल कर ग्रैंडहोम को कैच थमा दिया। इसके बाद हार्दिक ने 31वें ओवर में सेंटनर की गेंद पर ही विलियम्सन को कैच थमा बैठे।

Please follow and like us:

Leave a Reply