Bhopal covid 19 virus Health Latest News Madhya Pradesh

कमला नेहरू शिफ्ट किए जाएंगे गैस पीड़ित और बीएमएचआरसी में होगा कोरोना वायरस से संक्रमित विभिन्न राज्य से आने वाले लोगों का इलाज,

भोपाल. प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने भोपाल के गैस पीड़ितों के अस्पताल बीएमएचआरसी को राज्य स्तरीय कोविड-19 उपचार संस्थान बनाया है। इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं। बीएमएचआरसी को भोपाल गैस पीड़ितों के उपचार के लिए बनाया गया है। इसे अब कोविड-19 के मरीजों का ही इलाज होगा। स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव डॉ. पल्लवी जैन गोविल ने बताया कि नोवल कोरोना वायरस बीमारी को राज्य में मध्य प्रदेश ‘पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949’ की धारा 51 के तहत संक्रामक रोग घोषित किया गया है।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार गैस पीड़ितों का इलाज कमला नेहरू अस्पताल में किया जाएगा। बीएमएचआरसी में विभिन्न विभागों में 375 मरीजों को भर्ती करने की सुविधा है। इलाज के लिए विश्व स्तरीय तकनीक का उपयोग किया जाता है। गैस पीड़ित मरीजों को कमला नेहरु अस्पताल में शिफ्ट किए जाने से लोगों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। आज की तारीख में 375 बेड वाले इस अस्पताल में करीब 300 मरीज भर्ती है। यहां करीब 200 गैस पीड़ित प्रतिदिन इलाज कराने आते हैं।

बंद करदी जाएगी अस्पतालों में सामान्य ओपीडी ।
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए अस्पतालों में भीड़ कम की जा रही है। इसके लिए मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध अस्पतालों व जिला अस्पतालों में आगामी आदेश तक के लिए सामान्य ओपीडी मंगलवार से बंद कर दी गई है। यहां सिर्फ फ्लू ओपीडी में सर्दी-जुकाम के मरीजों व मेडिकल, सर्जिकल, ट्रामा, मातृ एवं शिशु रोग संबंधी इमरजेंसी में रोगियों को इलाज मिलेगा। इसका मकसद यह है कि अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं का ज्यादा उपयोग कोरोना संदिग्धों व मरीजों के लिए किया जा सके। स्वास्थ्य आयुक्त ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

 

Please follow and like us:

Leave a Reply